हिंसा के कारण भारत के जीडीपी को हुआ भारी नुकसान

  • Publish Date:
  • June 11, 2018 06:57 PM

हिंसा के कारण देश को सकल घरेलु उत्पाद में भारी नुकसान हुआ है. हिंसक घटनाओं के कारण भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) को साल 2017 में 80 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान उठाना पड़ा है. यह नुकसान प्रति व्यक्ति के आधार पर 595.40 डॉलर यानी 40 हजार रुपये से अधिक है. बता दें कि इंस्टीट्यूट फॉर इकोनॉमिक्स एंड पीस (आईईपी) ने 163 देशों में खरीद क्षमता के आधार पर किए गए अध्ययन के बाद यह  रिपोर्ट तैयार की है. रिपोर्ट के अनुसार, हिंसा का वैश्विक आर्थिक प्रभाव  मुख्यतः आंतरिक सुरक्षा खर्च में हुई बढ़ोत्तरी के कारण 2016 की अपेक्षा 2017 में 2.1% है. रिपोर्ट में सबसे कम हिंसा प्रभावित देश स्विटजरलैंड, बुर्किना फासो व इंडोनेशिया और ज्यादा नुकसान वाले देश सीरिया, अफगानिस्तान, इराक, अल सल्वाडोर, दक्षिणी सूडान, मध्य अफ्रीकी, साइप्रस, कोलंबिया, लीसोथो और सोमालिया है. बता दें कि जहां जीडीपी के खर्च के साथ हिंसा में सीरिया सबसे पहला देश रहा है. वहीं अफगानिस्तान दूसरे व 51% के साथ इराक तीसरे स्थान पर है.


Related News