कैराना नूरपुर में बीजेपी को मिली करारी मात

  • Publish Date:
  • June 01, 2018 03:03 PM

लोकसभा की 4 और विधानसभा की 10 सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे गए हैं। उपचुनाव में बीजेपी को कई सीटों पर करारी हार का सामना करना पड़ा है। इन सीटों पर सोमवार को वोटिंग हुई थी। लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी को जहां पालघर से जीत हासिल हुई तो वहीं पार्टी कैराना सीट पर हार गई।

उत्तर प्रदेश की कैराना, महाराष्ट्र की भंडारा-गोंदिया पालघर और नागालैंड की एक लोकसभा सीट पर चुनाव हुआ था।  यहां विपक्षी दलों की एकता के कारण भाजपा को करारा झटका लगा है। आरएलडी की उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह को 44618 वोट के अंतर से हराया। रालोद उम्मीदवार तबस्सुम को सपा, बसपा, आम आदमी पार्टी, कांग्रेस समेत समूचे विपक्ष का समर्थन प्राप्त था. बता दें कि भाजपा को हराने के लिए यहां सभी प्रमुख विपक्षी दल एक-दूसरे के साथ गए थे। सीधे कहा जाए तो कैराना में प्रमुख मुकाबला भाजपा और महागठबंधन के बीच था। 

पालघर सीट पर बीजेपी ने जीत हासिल की है। पालघर सीट पर शिवसेना ने भाजपा के दिवंगत सांसद चिंतामण वनगा के बेटे श्रीनिवास वनगा को उम्मीदवार बनाया था। वहीं बीजेपी ने कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आने वाले राजेंद्र गावित को उम्मीदवार बनाया था।  कांग्रेस के दामोदर शिन्गाड़ा और बहुजन विकास अघाड़ी के बलिराम जाधव ने मुकाबला दिलचस् बना दिया। हालांकि अंत में बीजेपी राजेंद्र गावित ने यह चुनाव 29572 वोटों से जीत लिया। बीजेपी के दिवंगत सांसद चिंतामण वनगा के निधन के कारण पालघर सीट पर उपचुनाव हो रहा था।

वहीं महाराष्ट्र में गोंदिया-भंडारा लोकसभा सीट पर एनसीपी उम्मीदवार मधुकर कुकड़े ने जीत दर्ज की है। मधुकर को 442213 वोट मिले हैं। वहीं, बीजेपी के उम्मीदवार हेमंत पटले को 384116  वोट मिले हैं। एनसीपी ने 48097 वोटों के अंतर से जीत हासिल की है। सोमवार को हुए मतदान के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों के बाद महाराष्ट्र की भंडारा-गोंदिया लोकसभा क्षेत्र के 49 बूथों पर बुधवार को फिर से वोटिंग हुई थी।

नगालैंड सीट पर बीजेपी समर्थित NDPP के उम्मीदवार तोखेहो येपथेमी ने जीत दर्ज की। तोखेहो येपथेमी ने 173746 मतों के अंतर से जीत दर्ज की है। फरवरी में नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोगेसिव पार्टी (एनडीपीपी) के नेता नेफ्यू रियो के लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के कारण इस सीट पर उपचुनाव कराया जा रहा है। सोमवार को हुए मतदान के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों के बाद नगालैंड लोकसभा क्षेत्र के एक बूथ पर बुधवार को री-पोलिंग हुई। सोमवार को हुए उपचुनाव में 70 प्रतिशत से ज्यादा वोटिंग हुई। उपचुनाव के नतीजों को साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर काफी अहम माना जा रहा है।

Related News